पोस्ट

धृतराष्ट्र ने पूछा– ‘‘हे संजय! धर्मक्षेत्र, कुरुक्षेत्र में एकत्र युद्ध की इच्छावाले मेरे और पाण्डु के पुत्रों ने क्या किया?’’

चित्र
धर्मक्षेत्रे कुरुक्षेत्रे समवेता युयुत्सव:। 
मामका: पाण्डवाश्चैव किमकुर्वत सञ्जय।।१।।
धृतराष्ट्र ने पूछा– ‘‘हे संजय! धर्मक्षेत्र, कुरुक्षेत्र में एकत्र युद्ध की इच्छावाले मेरे और पाण्डु के पुत्रों ने क्या किया?’’

अज्ञानरूपी धृतराष्ट्र और संयमरूपी संजय। अज्ञान मन के अन्तराल में रहता है। अज्ञान से आवृत्त मन धृतराष्ट्र जन्मान्ध है; किन्तु संयमरूपी संजय के माध्यम से वह देखता है, सुनता है और समझता है कि परमात्मा ही सत्य है, फिर भी जब तक इससे उत्पन्न मोहरूपी दुर्योधन जीवित है इसकी दृष्टि सदैव कौरवों पर रहती है, विकारों पर ही रहती है। 

शरीर एक क्षेत्र है। जब हृदय-देश में दैवी सम्पत्ति का बाहुल्य होता है तो यह शरीर धर्मक्षेत्र बन जाता है और जब इसमें आसुरी सम्पत्ति का बाहुल्य होता है तो यह शरीर कुरुक्षेत्र बन जाता है। ‘कुरु’ अर्थात् करो– यह शब्द आदेशात्मक है।


तीनों गुण मनुष्य को देवता से कीटपर्यन्त शरीरों में ही बाँधते हैं। जब तक प्रकृति और प्रकृति से उत्पन्न गुण जीवित हैं, तब तक ‘कुरु’ लगा रहेगा। अत: जन्म-मृत्युवाला क्षेत्र, विकारोंवाला क्षेत्र कुरुक्षेत्र है और परमधर्म परमात्मा में प्रवेश …

डिजिटल मार्केटिंग क्या हैं।[ What is Digital Marketing in Hindi ]

चित्र
Digital Marketing डिजिटल मार्केटिंग क्या है
आज सोशल मीडिया को समझने की बहुत जरूरत है आने वाले समय मे Digital Marketing का विस्तार बहुत तेजी से होने वाला है। इसलिए हर कंपनी को अपने Product और Service में पकड़ बनाने के लिए Digital Marketing का सबसे ज्यादा इस्तेमाल करती है।


यह एक सरल तरीका है अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए अपने business को फैलाने और उसकी Brand value को बढ़ाने के लिए इसलिए आज हर कंपनी अपने business के नाम से अपनी Website बनाती है ताकि लोगों के पास आसानी से पहुंच पाएं

जब कोई कंपनी किसी नये Business या फिर किसी नये Product को लॉन्च करती है। तो उसके बाद उसे Successful बनाने के लिए सबसे जरूरी होती है उसकी Marketing करना क्योंकि यही एक तरीका है क्योंकि उसे ज्यादा से ज़्यादा लोगो तक पहुचाया जा सकता है। यह सोशल मीडिया Platform से लोगों तक पहुंचने का एक जरिया है
What is Marketing Campaign Platform
कुछ समय पहले हर बड़ी कंपनी को अपने Marketing Campaign चलने के लिए TV, Newspaper, Magazines, Radio, Paplets, Poster और Banner जैसे संसाधनों का प्रयोग करती थी और बहुत सारी कंपनियां घर-घर जाकर अपने…

स्वामी विवेकानंद कोट्स I Swami Vivekananda Quotes-in hindi

चित्र
Quotes- 1,

सत्य को हज़ार तरीकों से बताया जा सकता है, फिर भी हर एक सत्य ही होगा।
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda)

Quotes- 2,

जितना हम दूसरों के साथ अच्छा करते हैं उतना ही हमारा हृदय पवित्र हो जाता है और भगवान उसमें बसता है

– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda)
Quotes, 3,

तुम्हें कोई पढ़ा नहीं सकता, कोई आध्यात्मिक नहीं बना सकता। तुमको सब कुछ खुद अंदर से सीखना हैं। आत्मा से अच्छा कोई शिक्षक नही हैं।
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda)

Quotes- 4,

दर्द और ख़ुशी दोनों ही अच्छे टीचर हैं।
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda)

Quotes- 5,

यदि स्वयं में विश्वास करना और अधिक विस्तार से पढाया और अभ्यास कराया गया होता, तो मुझे यकीन है कि बुराइयों और दुःख का एक बहुत बड़ा हिस्सा गायब हो गया होता।


– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda)

Quotes- 6,

हम भगवान को कहा देख पाएंगे, अगर हम उन्हें अपने दिल में या सभी प्राणियों में नहीं देख सकते।
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda)

Quotes- 7, 

उठो, जागो और तब तक मत रुको जब तक लक्ष्य की प्राप्ति ना हो जाये।
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda)

Quotes- 8,

खड़े हो जाओ , और …

निवेश या इन्वेस्टमेंट का असली मतलब क्या होता है ? [True meaning of Investment in Hindi ]

चित्र
निवेश का अर्थ है, धन को बढ़ाने का प्रयास करना।कम समय में अपने पैसो को बढ़ाने के लिए निवेश करना बहुत जरूरी होता है। निवेश करने के लिए आप के बहुत सारे अप्सान मिल जाते है लेकिन आप के लिए कौन से अप्सान सही उसके लिए आपको यह जानना जरूरी है।


निवेश कितने प्रकार के होते है।
निवेश कई प्रकार के होते है ,  Gold , mutual fund, real estate, stock market, Dept market  जैसा कि मैंने आपको निवेश के बारे में बता रहा हूं, निवेश वह धन है। जो आपके लिए काम करता है। अगर आप आज निवेश करते है। 
आज का किया हुआ निवेश कल आप के लिए पैसा कमा रहा होता है। जैसे आज के दिन अपने एक निवेश प्रोपर्टी में क्या है। वह निवेश कल जब प्रोपर्टी के दाम में इजाफा होगा। तब आपकी निवेश की हुई पुजी में बढ़ोत्तरी दिखाई देने लगेगी
निवेश की शुरुआत कैसे करे - 
निवेश की शुरुआत करने के लिए आप को पहले बचत करना पड़ेगा आप जीतना भी कमाते है, उसमें से 25 पर्सेंट निवेश करने का प्रयास करे अगर आप आज से 25 पसेंट अपने इनकम से निवेश सुरु करते है माना कि आप 20 साल के बाद आप उस निवेश से आज के इनकम के बराबर बिना काम किए हुए घर बैठे ले सकते है।
आईसीआईसीआई मच्यूल फं…

एस आई पी क्या है। SIP क्यों करना चाहिए

चित्र
एसआईपी क्या है, और इसे क्यों करना चाहिए ।एसआईपी या सिस्टमेटिक इंवेस्टमेंट प्लान इसका अत्यंत आदर्श और सुविधाजनक तरीका है. 'सीप' मच्युल फंड आइये मै एसआईपी के बारे में बताता हूं, एसआईपी एक (systematic investment plan)  मतलब एसआईपी एक ऐसा निवेश है। जिससे आप छोटी सी अमाउंट से निवेश स्टार्ट कर सकते हैं। एसआईपी सुरु करने के लिए आगे समझते हैं।

मै एक उदाहरण देकर समझता हूं। माना कि आप एक नौकरी करते है। आप को 15 हजार मिलता है। उसमें से कुछ बचत करते है। अब उस पैसे को या तो बैंक में रखेंगे या तो आरडी करेगे अगर आरडी पे आपको 6 पर्सेंट ब्याज  मिलता है तो आपको यह फिक्स है आपको इतना ही मिलेगा लेकिन अगर आपको अपने पैसे को समय के अनुसार ज्यादा बढ़ाना है तो आपको एसआईपी मैं इन्वेस्टमेंट करना पड़ेगा।
एसआईपी क्यों, क्या है इसके फायदेआइए मैं आपको बताता हूं की अगर आप कोई बिजनेस करते हैं तो उसमें पैसा लगाते हैं और जैसे-जैसे आपका बिजनेस बढ़ता है आपका इनकम बड़ता है उसमें फायदा होता ठीक उसी प्रकार एसआईपी में निवेश किया हुआ पैसा आप किसी के बिजनेस में लगा रहे होते हैं। और उस बिजनेस में जो फायदा होता है। कंपनी का…

म्यूच्यूअल फंड में बैंक अकाउंट कैसे अपडेट कर सकते हैं।

चित्र
म्यूच्यूअल फंड में बैंक अकाउंट,
म्यूच्यूअल फंड में बैंक अकाउंट अपडेट करने के लिए आपको इन दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी।

बैंक अकाउंट चेंज करने के लिए आवश्यक दस्तावेज-


जिस बैंक को अपडेट करना है उस बैंक का कैंसिल चेक जिसमें नाम प्रिंटेड हो और चेक पे IFSC कोड हो।

या तो बैंक स्टेटमेंट / बैंक पासबुक जो 3 महीने से अधिक पुरानी नहीं हो बैंक के शाखा प्रबंधक / अधिकृत कर्मियों द्वारा स्टैंप हस्ताक्षरित होने चाहिये।

पैन कार्ड की फोटो कापी
ओल्ड बैंक का पासबुक या स्टेटमेंट

इसके बाद आपको जिस म्यूच्यूअल फंड फोलियो में आपका बैंक अकाउंट अपडेट करना है उनके ऑफिस में जाकर चेंज आफ बैंक का फॉर्म लेकर अपने डिटेल को उसमें भरना है

जैसे-पोलियो में नाम, न्यू बैंक अकाउंट और ओल्ड बैंक अकाउंट डिटेल और साइन करके दे देना है आपका न्यू बैंक अकाउंट 7 से 10 दिन में अपडेट हो जाएगा
अगर आप म्यूचुअल फंड कंपनी की वेबसाइट पर रजिस्टर्ड हैं और आपके पास यूजर नेम और पासवर्ड है तो आप ऑनलाइन भी बैंक अकाउंट में बदलाव के लिए आवेदन कर सकते हैं.

आप चाहे तो इस फॉर्म में अपने एक से ज्यादा सेविंग्स बैंक अकाउंट की जानकारी दे सकते हैं और किसी एक खात…

निवेश के चार प्रकार | निवेश के रिस्क और निवेश पर लाभ [ Four Type of Investment Hindi ]

चित्र
कहां से शुरू होता है निवेश ?

इससे पहले कि आप उपलब्ध निवेश के विकल्पों को देखें , अपने ' निवेश उद्देश्य ' का आंकलन करना और उसे समझना महत्वपूर्ण है । यह अल्पविकसित लगता है।

लेकिन इससे बचने के लिए, फोकस और अंततः बिना वित्तीय नुकसान से निवेश किया जा सकता है।
क्या आप अपनी पूंजी की सराहना चाहते हैं ? या , क्या आप नियमित आय की तलाश में हैं ? आप जोखिम लेने के लिए कितने तैयार हैं ?

इन सवालों का जवाब आपको अपने भविष्य के सभी निवेशों के पीछे एक अंतर्निहित विषय निर्धारित करने में मदद करेगा ।

कई वेबसाइट और निवेश सलाहकार हैं। जो आपके निवेश उद्देश्य को निर्धारित करने में आपकी सहायता कर सकते हैं ।

 कुछ सामान्य निवेश के उद्देश्य हैं : 
1.  बहुत कम जोखिमः सभी निवेशों में उनके साथ जुड़े जोखिम का एक तत्व होता है । और , जोखिम सीधे रिटर्न के लिए आनुपातिक है ; जोखिम अधिक - वापसी अधिक । कई निवेशक हैं जो अपनी निवेशित पूंजी पर जोखिम लेने के लिए तैयार नहीं हैं और रिटर्न पर समझौता करने को तैयार हैं । ऐसे निवेशकों के लिए , निवेश का मतलब है - न्यूनतम जोखिम ।

कुछ ऐसे विकल्प हैं :
SAVINGS, ACCOUNTS, BANK FIXED …

निवेश क्या होता है। ? क्यों जानना जरूरी है।

चित्र
निवेश का अर्थ है। पैसा , प्रयास , समय  जैसे, निवेश किसी वस्तु में लाभ कमाने के लिए या लाभ पाने के लिए निवेश किया जाता है। क्योकि एक निवेश इस उम्मीद के साथ एक किसी भी संपत्ति की खरीद के लिए निवेश होता हैं।


सीधे शब्दों में कहें तो निवेश आज की तारीख में, कुछ बेहतर करने की उम्मीद के साथ कुछ और करने का एक विकल्प है। 'Finance' में , एक निवेश आज इस उम्मीद के साथ एक संपत्ति की खरीद किया जाता है क्योंकि 'निवेश'  नियमित आय प्रदान करेगा या भविष्य में मूल्य में ग्रोथ करेगा । 


प्रत्येक व्यक्ति अपनी आय को दो व्यापक भागों में विभाजित करता है। : 
 1, अपने दिनचर्या के लिए जिसकी उसको जरूरत है या कोई सेवाओं के लिए जैसे लग्जरी आइटम इत्यादि,।


 2,भविष्य में कोई योजना बनाई हो या इमरजेंसी खर्च के लिए कुछ धन की बचत करना या बचाए गए फंड को या तो बैंक खाते में रखते हैं या घर पर नकदी के रूप में निष्क्रिय पड़े रहते हैं। 


इसके अलावा , कई लोग ऐसे भी है। जो पेचेक - टू - पेचेक से जीते हैं। , उनके मौजूदा आय से फंड को बचाना मुश्किल होता है । फिर भी , वे भविष्य के खर्चों के लिए भी तैयार रहना चाहते हैं । 







दोनों …

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

कहानी राम कथा - SAR नारद मुनि, सनत्कुमार संवाद, राम कथा - कलियुग की स्थिति

कहानी राम कथा- नारद मुनि, सनत्कुमार संवाद,

Google ने भारत में लॉन्च किया Kormo जॉब पाएं